गोलगप्पे वेल से चुड गई गाँव की सरपंच आंटी

1673

पिच्छले एलेक्षन मे भोला ने सरपंच आंटी को बड़ी मदद की थी. गाँव मे उसकी कम्यूनिटी के जीतने भी वोट हे उसमे से 90% लोगो ने शारदा को वोट दिया था. और बदले मे आंटी ने पहली बार गोलगपपेवाले को अपना बर दिया था चुनाव के रिज़ल्ट्स के बाद मे. अगला एलेक्षन भी जितना ही हे आंटी को इसलिए ये विधवा लेडी अपना बर आज भी देती हे भोला को.

आज के इस देसी क्षकशकश हिन्दी मोविए मे आंटी बर खोल के गोलगपपेवाले से छुड़वा रही हे. भोला ने आंटी के उपर चढ़ के उसकी चिकनी छूट मे अपने लंड को घुसा के फक कर दिया.